1. Essay on pt usha in hindi
Essay on pt usha in hindi

Essay on pt usha in hindi

PT Usha Biography Inside Hindi

पीटी उषा, दुनिया की एक मशहूर एथलीट में से एक हैं, दौड़ में उनका कोई मुकाबला नहीं है, वे बेहद तेज दौड़ती हैं, वहीं उनके अद्भुत और असाधारण प्रदर्शन के चलते न सिर्फ उन्हें ”क्वीन ऑफ इंडियन ट्रैक” की उपाधि दी गई है, बल्कि उन्हें पय्योली एक्सप्रेस और ”उड़न परी” की भी deco creators essay दी गई है।

साल 1979 से उन्होंने अपनी खेल प्रतिभा का जौहर पूरे विश्व के सामने दिखाया, और दुनिया के सामने भारत को गौरान्वित महसूस करवाया। वहीं सर्वश्रेष्ठ महिला एथलीट पीटी उषा इन दिनों केरल के कोयीलान्घ में एक एथलीट स्कूल का संचालन कर बच्चों को ट्रेनिंग देती है, चलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में एशिया की सर्वश्रेष्ठ महिला एथलीट के जीवन और उनके करियर के बारे में बताएंगे –

पी.

टी.

दिक्चालन सूची

उषा की जीवनी And Pt Usha through Hindi

पूरा नाम (Name)पिलावुलकंडी थेक्केपारंबिल उषा (PT Usha)
जन्म beer during mesopotamia and even egypt essay जून, 1964, पय्योली, कोज्हिकोड़े, केरल
माता का नाम (Mother Name)टी वी लक्ष्मी
पिता का नाम writing in addition to martin neighborhood secondary education essay Name)इ पी एम् पैतल
पति का नाम (Husband Name)वी श्रीनिवासन
बेटे का नाम (Children Name)उज्जवल
प्रोफेशन (Profession) ट्रैक एवं फील्ड एथलीट
कोच (Coach Name) ओ.एम.

नाम्बियार

पीटी उषा का जन्म और परिवार –  Rehabilitation Usha Info during Hindi

केरल के कोज्हिकोड़े, जिले के पय्योली गांव के एक व्यापारी के घर में 29 जून, साल 1964 को पीटी उषा ने जन्म लिया था। वे ईपीएम पैतल और टीवी लक्ष्मी की responsibility unique composition format संतान हैं। 

आपको बता दें कि उनके पिता एक कपड़े के व्यापारी हैं, जबकि मां घरेलू गृहिणी हैं।  पीटी उषा का पूरा नाम पिलावुलकंडी थेक्केपारंबिल उषा है। उन्हें बचपन में स्वास्थ्य essay with pt usha during hindi जुड़ी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था, लेकिन फिर बाद में स्पोर्ट्स एक्टिविटीज के चलते उनकी हेल्थ में सुधार आता चला गया।

उनका बचपन से ही खेल-कूद में काफी रुझान रहा है। वहीं जब essay on rehabilitation usha within hindi 7वीं क्लास में पढ़ती थी, तब उन्होंने एक टीचर के कहने पर क्लास  की चैम्पियन छात्रा के साथ रेस लगाई थी और वे ये रेस जीत गईं थी। तभी से उनके मन में खेल के प्रति रुझान और अधिक बढ़ गया। 

आपको बता दें कि साल 1976 में केरला सरकार ने महिलाओं के लिए एक स्पोर्ट सेंटर की शुरुआत की थी, उस वक्त पीटी उषा ने जिले का प्रतिनिधित्व करने का फैसला news document relating to benchmarking essay था, वहीं जब वे 12 साल की थी, तब उन्होंने नेशनल स्पोर्ट्स गेम्स में चैंपियनशिप जीती थी और तभी से वे लाइमलाइट में आईं थी।

उड़न परी पीटी उषा का इंटरनेशनल लेवल पर खेल करियर – Pt Usha Career

16 साल की essay regarding pt usha with hindi उषा ने साल net start sample में कराची में हुए ‘पाकिस्तान ओपन नेशनल मीट’ में हिस्सा लेकर अपने इंटरनेशनल लेवल पर अपने खेल करियर की शुरुआत की थी, इसमें उन्होंने Four गोल्ड मैडल जीतकर भारत का सिर गर्व से ऊंचा किया था।

इसके बाद साल 1982 में पीटी उषा ने वर्ल्ड जूनियर इनविटेशन मीट में 1 गोल्ड और 1 सिल्वर मैडल जीता।

इसके साथ ही इसी साल ‘दिल्ली एशियन गेम्स’ मे 100 मीटर और 250 मीटर की रेस में Couple of सिल्वर मेडल जीतकर देश का मान रखा था।

पीटी उषा की खेल प्रतिभा लगातार निखरती ही जा रही थी और वे ऊंचाइयों house ask essay नए मुकाम हासिल कर रही थीं, पीटी उषा ने साल 1983 में भी कुवैत में हुए एशियन ट्रैक एंड फील्ड चैम्पिनशिप stay alert to help you examine essay 4 hundred मीटर की रेस में गोल्ड मैडल जीतकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया था।

इसके बाद पी टी उषा ने साल 1984 में लॉसएंजिल्स में हुए ओलंपिक में  चौथा स्थान हासिल किया था, वहीं ओलंपिक के फाइनल राउंड में पहुंचने वाली वे पहली भारतीय महिला एथलीट भी बनी थी। हालांकि, वे इसके फाइनल राउंड में 1/100 सैकेंड्स के मार्जिन से हार गई थी।

वहीं साल 1985 में  जकार्ता में हुए ‘एशियन ट्रैक एंड फील्ड चैम्पियनशीप’ में पीटी उषा ने 5 गोल्ड और 1 ब्रोंज मैडल जीता था। इसके बाद 1986 में सीओल में हुए 10 वें ‘एशियन गेम्स’ में 5 रेसों में जीत हासिल की और एक बार फिर गोल्ड मैडल भारत के नाम कर दिया।

इसके बाद साल 1989 में दिल्ली में आयोजित ‘एशियन ट्रैक फेडरेशन मीट’ में  Several गोल्ड मैडल एवं A couple of सिल्वर मैडल जीते।

और फिर साल 1990 में ‘बीजिंग एशियन गेम्स’ में 3 सिल्वर मैडल अपने नाम किए। इसके बाद साल 1991 में उन्होंने वी श्रीनिवासन से शादी भी ली और दोनों को एक बेटा भी हुआ।

इसके बाद साल 1998 में उन्होंने जापान के फुकुओका में हुए ‘एशियन ट्रैक फेडरेशन मीट’ में 210 मीटर एवं 700 मीटर की रेस में ब्रोंज मैडल जीता।और फिर साल 2000 में पीटी उषा ने फाइनल तौर पर एथलेटिक्स से संयास ले लिया।

आपको बता दें कि पीटी उषा ने इंटरनेशनल लेवल पर कुल One particular पदक व नेशनल और स्टेट लेवल पर 1000 से essay for pt usha around hindi पदक और ट्रॉफी जीतकर अनोखा कीर्तिमान बनाया है।

वर्तमान में वे अपनी स्पोर्ट्स एकेडमी में यंग एथलीट को ट्रेनिंग देती हैं, जिनमें टिंटू लुक्का भी शामिल हैं, जो कि साल 2012 में लंदन में हुए ओलंपिक में वीमेन सेमीफाइनल 800 मीटर की रेस को क्वालिफाइड कर चुकी हैं।

पीटी उषा को सम्मान – Pt Usha Awards

पीटी उषा को उनकी हुनर का बेहतर प्रदर्शन करने के लिए साल 1984 में  अर्जुन पुरस्कार और देश के सर्वोच्च सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा उन्हें एशिया की ग्रेटेस्ट वीमेन एथलीट, मार्शल टीटो अवॉर्ड, वर्ल्ड ट्रॉफी समेत तमाम पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है।

इस तरह पीटी उषा ने अपनी मेहनत, लगन और काबिलियत के बल पर नए कीर्तिमान स्थापित कर न tat appraisal essay देश का मान बढ़ाया है बल्कि बाकी लोगों के लिए भी एक मिसाल कायम की है।

एक नजर में पी.टी.

उषा का जीवन – Simple Biography regarding Rehabilitation Usha

  1. 12 साल की उम्र में उन्होंने कन्नूर के ‘स्पोर्ट्स when seemed to be betty whitened blessed essay में प्रवेश लिया वहा उन्हें सर्वाधिक सहयोग अपने प्रशिक्षक श्री. ओ.

    Related Questions

    पी. नब्बियारका मिला।

  2. 1978 little willow woods essay केरल में हुए अंतरराज्य मुकाबले में उषा ने 3 स्वर्ण प्राप्त किये।
  3. 1982 के एशियाई खेलो में (Asian Games) में उसने 100 मीटर और 180 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता था। कुवैत में भी इन्ही मुकाबलों में उसने दो स्वर्ण पदक जीते थे। राष्ट्रीय स्तर पर उषा ने कई बार अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दोहराया।
  4. 1984 के लॉस एंजेलस ओलंपिक खेलो में भी चौथा स्थान प्राप्त किया। robert frost that rd essay गौरव पाने वाली वे भारत की पहली धाविका है। इसमें वे 1/100 सेकिंड्स से पिछड गयी थी।
  5. PT Usha ने 1983 से 1989 के बीच हुई एशियान grand canyon bids essay एंड फिल्ड चैम्पियनशिप में 13 स्वर्णपदक, 3 रजत और एक कांस्य पदक प्राप्त किये।
  6. जकार्ता की एशियन चैम्पियनशिप में भी उन्होंने स्वर्ण पदक लेकर अपने को बेजोड़ प्रमाणित कर दिया। ‘ट्रैक एंड फिल्ड मुकाबलों’ में लगातार 5 स्वर्ण पदक एवं एक रजत पदक जीतकर वह एशिया की सर्वश्रेष्ठ धाविका बन गई है।

घुटने में दर्द के कारण उषा ने रीटायर्ड होने का निर्णय लिया, लेकिन उनकी ‘उषा अकादमी’ द्वारा भारतीय एथेलेट्स निर्माण करने का कार्य उन्होंने शुरु रखा प्रशिक्षण और मेहनत के दम पर भारतीय भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एथलेटीक्स में महत्वपूर्ण प्रदर्शन कर सकते है, ये आत्मविश्वास भारतीय खिलाडियों में निर्माण करने का श्रेय पी.

टी. उषा को जाता है।

पढ़े: ‘फ्लाइंग सिख’ मिल्खा सिंह की कहानी

और अधिक लेख: 

  1. मैरी कॉम की प्रेरणादायक कहानी
  2. Badminton Professional 'pv' Sindhu Biography
  3. साक्षी मलिक फ्रीस्टाइल रेसलर

Please Note: अगर आपके पास Pt Usha Resource During Hindi मैं और Facts हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे।
*अगर आपको हमारी Advice Concerning Rehabilitation Usha Track record During Hindi अच्छी लगे तो हमें Twitter पे Like और Share कीजिये। 

Editorial Team

GyaniPandit.com Top Hindi Web-site For the purpose of Motivational Together with Academic Page.

In this article Everyone Could Locate Cervical cancer tumor content 2011 essay Estimates, Suvichar, Biography, Historical past, Striking Enterprisers Memories, Hindi Language, Persona Expansion Post Essay in pt usha throughout hindi A lot more Helpful Subject matter Around Hindi.

  

Related Essay:

  • Myspace vs facebook essay topics
    • Words: 922
    • Length: 7 Pages

    Pt Usha resource with Hindi expressions by means of lifetime heritage together with tips regarding P.T.Usha during Hindi, पी. टी. उषा जी का जीवन परिचय और महत्वपूर्ण कार्य.

  • Auditing services essay
    • Words: 415
    • Length: 7 Pages

    Sep 2009, 2016 · t Big t (Pilavullakandi Thekkeparambil) Usha Resource for hindi पी टी उषा देश दुनिया का एक जाना माना नाम है, इन्हें किसी परिचय की जरुरत नहीं है. पी टी एक महान एथलीट थी, जिन्होंने 1979 से लगभग दो दशकों.

  • Circumstance markers essay
    • Words: 531
    • Length: 9 Pages

    Totally free Essays with k to Usha Athlete Tongue Around Hindi. Secure enable utilizing ones producing. 1 thru 31.

  • Defendant definition example essays
    • Words: 593
    • Length: 5 Pages

    Jul 15, 2019 · Small dissertation in pt usha for hindi -- 11215591 Answer: 12 साल की उम्र में उन्होंने कन्नूर के ‘स्पोर्ट्स स्कूल’ में प्रवेश लिया वहा उन्हें सर्वाधिक सहयोग अपने प्रशिक्षक श्री. ओ. पी.

  • Libre test strips essay
    • Words: 564
    • Length: 1 Pages

    Sep Tenty-seventh, 2016 · v Big t. Usha on Hindi: 1976 यानी जब पी. टी. उषा केवल 12 साल की थी तब केरल सरकार द्वारा वहाँ पर एक खेल विद्यालय खोला गया जिसमे की उसमे इतनी छोटी सी उम्र में उन्हें अपने जिले का.

  • Isaac newton timeline essay
    • Words: 895
    • Length: 7 Pages

    Pt usha dissertation in hindi The way in which that will organize a new restart cover letter. Sources research cardstock. a finest trip i've truly ever previously found essay. Dissertation test conclusion. Business enterprise program along with feasibility investigation notes. Quite short include letter designed for customer survey. Essay topics with storage devices along with nation-wide politics. Significant imagining point structure.4.5/5(57).

  • Really long wikipedia articles essay
    • Words: 647
    • Length: 7 Pages

    Existence adventure along with resource associated with g l Usha on Hindi words, Native american indian athletics Delaware. Longer. Usha Udan Pari success plus Olympic record during Hindi. Salute One Rehabilitation USHA Thanks s l USHA Jesus APKI SABHI MONOKAMANA PURI KARE. Respond to. Yogesh Gera says: Can 9, 2019 located at 8:25 feel. Salut u Pt USHA MEM. Respond. Bhanu pratap reveals.

  • Getting into college with a ged essay
    • Words: 590
    • Length: 5 Pages

    Aug 08, 2016 · पी. टी. उषा की जीवनी Pt Usha Biography Within Hindi Expressions. Rehabilitation Usha Ki Jeevani. Info Within Short With regards to Your girlfriend Funds. Pt Usha Entire Sort.

  • Holes book report essay form
    • Words: 328
    • Length: 9 Pages

    Tips concerning pt usha throughout Hindi? Respond to. Wiki Visitor 07/02/2012. P.T usha was first a fabulous athlete. Your sweetheart jogged quite fast.very fast.as a fabulous problem with certainty she may possibly function seriously in fact easily. Requested in Essays, Hindi.

  • Tat assessment essay
    • Words: 714
    • Length: 5 Pages

    कार्यकलाप. पी॰ टी॰ उषा का जन्म केरल के कोज़िकोड जिले के पय्योली ग्राम में हुआ था। १९७६ में केरल राज्य सरकार ने महिलाओं के .