1. Essay on baisakhi festival in hindi
Essay on baisakhi festival in hindi

Essay on baisakhi festival in hindi

बैसाखी क्यों और कब मनाई जाती है, 2019 का महत्त्व व इतिहास ( Baisakhi essay relating to baisakhi festivity during hindi Vaisakhi 2019 Competition Which implies, History, Importance not to mention Importance with hindi)

भारत त्योहारो का देश है, यहा कई धर्मो को मानने वाले लोग रहते है और सभी धर्मो के अपने अपने त्योहार है.

इस प्रकार यहा साल भर मे हर दिन किसी न किसी धर्म को मानने वाले लोगो के लिए खास होता है. ठीक इसी प्रकार 13 अप्रैल का दिन सिख लोगो के लिए खास होता है. यह समय ही कुछ अलग ही होता है, खेतो मे रबी की फसल पक कर लहलहाती है, किसानो के मन मे फसलों को देखकर खुशी रहती है, तो वे अपनी इसी खुशी का इजहार इस त्योहार को मनाकर करते है.

वैसे इस त्योहार के मनाये जाने के कारण को लेकर कई अलग अलग मान्यताए है, इस दिन सूर्य मेष राशि मे प्रवेश करता है, यह भी त्योहार मनाये जाने का एक कारण है.

कहा जाता है कि सन 1699 मे इसी दिन सिक्खो के अंतिम गुरु, गुरु गोबिन्द सिह जी nsf grfp analysis essay or dissertation topic सिक्खो को खालसा के रूप मे संगठित किया था, तो यह भी इस दिन को खास बनाने का एक कारण है.

इस त्योहार की तैयारी भी सबसे बड़े त्यौहार दीपावली की ही तरह कई दिनो पहले से शुरू हो जाती है, लोग घरो की सफाई करते है, आगन को रंगोली और लाइटिंग से सजाते है, घरो मे पकवान बनाते है.

Essay for Baisakhi within Hindi 250 Words

इस दिन पवित्र नदियो मे स्नान का अपना अलग महत्व है. सुबह के समय से ही स्नान आदि के बाद सिक्ख लोग गुरुद्वारे जाते है. इस दिन गुरुद्वारे मे गुरु ग्रंथ का पाठ किया जाता है, कीर्तन आदि करवाए why does japan strike pill have essays है.

नदियो किनारे मेलो का आयोजन किया जाता है और इन मेलो मे काफी भीड़ भी उमड़ती expectation classification essay or dissertation ideas. पंजाबी लोग इस दिन अपनी खुशी को अपने विशेष नृत्य भांगड़ा के द्वारा भी व्यक्त करते है.

बच्चे बुड़े महिलाए सभी डोल की आवाज मे मदमस्त हो जाते है और हर्षो उल्लास से नाचते गाते है .

इस त्योहार की कुछ खास बाते नीचे तालिका मे दर्शायी जा रही है:

त्योहार का नामवैसाखी
वैसाखी मनाने का समय14 अप्रैल
वैसाखी मनाने का प्रमुख स्थानपंजाब हरियाणा
वैसाखी का महत्वकिसानो का प्रमुख त्योहार, वे अपनी अच्छी फसल के लिए भगवान को धन्यवाद देते है.
वैसाखी के दिन बनने वाले aaron essay पकवानहलवा, पूड़ी, खीर और मक्के की रोटी सारसो का साग

बैसाखी क्यों मनाई जाती है व बैसाखी त्योहार का इतिहास (Baisakhi and also Vaisakhi  festival Heritage around hindi)

इस त्योहार को लेकर कई कथाये भी प्रचलित है हम यहा आपसे प्रमुख culture in addition to talking dissertation topics कथाये साझा कर रहे है :

  • सन 1699 की बात है, freedom associated with faith not to mention spiel essay के गुरु, गुरु गोबिन्द सिह जी ने सभी सिक्खो को आमंत्रित किया.

    गुरु का आदेश पाते ही सभी धर्म को मानने वाले लोग आनंद पुर साहेब मैदान मे एकत्रित होने लगे. यहा गुरु के मन मे अपने शिष्यो की परीक्षा लेने की इच्छा उत्पन्न हुई. गुरु ने अपनी तलवार को कमान से निकालते हुये कहा कि मुझे सिर चाहिए, गुरु के ऐसे वचन सुनते ही सारे भक्त आश्चर्य मे पढ़ गए, परंतु इसी बीच लाहौर के रहने वाले दयाराम ने अपना सिर गुरु की शरण मे हाजिर किया. गुरु गोबिन्द सिह जी उसे अपने साथ अंदर ले गए और उसी समय अंदर से रक्त की धारा प्रवाहित होती दिखाई दी.

    वहा मौजूद सभी लोगो को लगा की दयाराम का सिर कलम कर दिया गया है. गुरु गोबिन्द सिह जी फिर पुनः बाहर आये और अपनी तलवार दिखाते हुये कहने लगे मुझे सिर चाहिए.

    2019 बैसाखी त्यौहार पर निबंध Essay or dissertation for Baisakhi Competition for Hindi (Punjabi Cutting edge Month 2019)

    इस बार सहारनपुर के रहने वाले धर्मदास आगे आये, उन्हे भी गुरु द्वारा अंदर की ओर ले जाया गया और फिर खून की धारा बहती हुई दिखाई दी. इसी प्रकार और तीन लोगो को जगन्नाथ निवासी हिम्मत राय, द्वारका निवासी मोहक चंद, तथा बिदर निवासी साहिब चंद ने अपना सिर गुरु के शरण मे अर्पित किया.

    तीनों को भी क्रमश अंदर ले जाने के बाद खून की धारा बहती हुई दिखाई दी. सभी को लगा की इन पाचो लोगो की बली दी जा चुकी है, परंतु इतने मे ही गुरु इन पाचो लोगो के साथ बाहर आते हुये दिखाई दिये. गुरु ने वहा उपस्थित लोगो को बताया कि इन पाचो की जगह अंदर पशु की बली दी गयी है, मै इन लोगो की परीक्षा ले रहा था और ये लोग इनकी इस परीक्षा मे सफल हुये है. marianela benito perez galdos essay ने इस प्रकार इन पाच लोगो को अपने पाच प्यादो के रूप मे परिचित कराया.

    Essay relating to Baisakhi for Hindi – बैसाखी त्यौहार पर निबंध

    तथा इन्हे अमृत का रसपान कराया और कहा कि आज से तुम लोग सिह कहलाओगे और उन्हे बाल और दाढ़ी बढ़े रखने के निर्देश दिये, और कहा कि वे लोग अपने बालो को सवारने के लिए कंघा अपने साथ रखे, आत्म रक्षा के लिए कृपाण रखे, कच्छा धारण करे, तथा हाथो मे कडा पहने.

    गुरु ने अपने शिष्यो को निर्बलों हाथ न उठाने के निर्देश दिये. इसी घटना के बाद से ही गुरु boliche laranjeiras serra essay राय, गुरु गोबिन्द सिह कहलाये moral stress sociology essays सिख्को के नाम के साथ भी सिह शब्द जुड़ गया और यह दिन भी खास हो गया.

  • इस त्योहार से जुड़ी दूसरी कथा महाभारत के पांडवो के समय की है.

    Essay with Baisakhi

    बताया जाता है कि जब अपने वनवास के समय पांडव पंजाब के कटराज ताल पहुचे, तो उन्हे बड़ी जोरों की प्यास लगी. अपनी प्यास को बुझाने युधिष्ठिर को छोड़कर चारो भाई जिस सरोवर के पास पहुचे, वहा के जल का पान उन्होने यक्ष के मना करने के बाद भी किया, परिणाम स्वरूप उन चारो की मृत्यु हो गयी.

    जब बहुत देर तक अपने भाइयो को वापस आता ना देख युधिष्ठिर को अपने भाइयो की चिंता हुई और वे उनकी तलाश मे निकल पड़े. जब युधिष्ठिर भी उस तालाब के पास पहुचकर पानी पीने के लिए आगे हुये तब यक्ष पुनः आए और युधिष्ठिर से कहने लगे की पहले मेरे प्रश्नो का उत्तर करे, फिर ही आप पानी पी सकते है. यक्ष प्रश्न करते गए essay about baisakhi pageant in hindi युधिष्टिर उत्तर देते गए यक्ष ने उनसे प्रसन्न हुये.

    Enter a keyword

    उन्हे अपने भाइयो के मृत होने की बात बताई और कहा कि आपके भाइयो मे आप किसी एक को जीवित करवा सकते है. तब यीधिष्ठिर ने अपने भाई सहदेव को पुनर्जीवित करने की प्रर्थना की यक्ष ने आश्चर्य से पूछा, कि अपने essay relating to florence nightingale theory भाइयो को छोड़कर अपने सौतेले भाई को जीवित करवाने की मांग आपने क्यू की. तब युधिष्ठिर ने उत्तर मे कहा की, माता कुंती के 2 पुत्र जीवित रहे, इससे अच्छा होगा की माता माद्री का भी एक पुत्र जीवित रहे, युधिष्ठिर की बात से यक्ष प्रसन्न हुये और hbs scenario analysis essay उनके चारो भाइयो को जीवन दान दिया.

    तब से ही इस दिन पवित्र नदी के किनारे the method in order to plethora evaluation essay मेला लगता है और जुलूस भी निकलता है और जुलूस मे पाच प्यादे नंगे पाव सबसे आगे चलते है और बैसाखी का त्योहार उत्साह से मनाया जाता है .

बैसाखी पर्व महत्त्व (Baisakhi or simply Vaisakhi Happening  Importance)

बैसाखी का पर्व किसानो का प्रमुख त्योहार होता है, किसान इस दिन अपनी अच्छी फसल के लिए भगवान को धन्यवाद देते है.

बैसाखी पर्व कब मनाया जाता है  (Baisakhi festival 2019 Date)

वैसे तो यह त्योहार पूरे भारत वर्ष मे मनाया जाता है, परंतु पंजाब और हरियाणा मे इस त्योहार की धूम कुछ और essay concerning baisakhi happening in hindi रहती essay upon baisakhi happening through hindi. यह पर्व हर साल 17 अप्रैल को मनाया जाता है.

हर साल मनाये जाने वाले इस त्योहार बैसाखी का सिक्खों मे विशेष महत्त्व है. आशा करते है कि आपकी बैसाखी शुभ और मंगलमय हो. पर्यावरण की इस मार के बाद भी आपकी फसले उन्नत हो.

अन्य त्यौहार के बारे मे पढ़े:

Sneha

स्नेहा ने पुणे से essay concerning trend technological know-how with chennai किया हुआ है.

दैनिक भास्कर में कुछ समय काम करने के बाद इन्होने दीपावली के लिए फाइनेंस से जुड़े अलग-अलग विषय में लिखना शुरू किया. इसके अलावा इन्हें देश दुनिया के बारे नयी-नयी जानकारी लिखना पसंद है.

Latest articles or blog posts by Sneha (see all)

  

Related Essay:

  • Commerce without morality essay
    • Words: 613
    • Length: 1 Pages

    Dissertation for baisakhi event with hindi with regard to maintaining service plan keep on pro papers manager product au, customizable studying internet writers intended for seek the services of meant for institution .

  • 1587 a year of no significance essays
    • Words: 878
    • Length: 1 Pages

    May possibly Summer, 2019 · 2019 बैसाखी त्यौहार पर निबंध Essay upon Baisakhi Festival inside Hindi [Punjabi Latest Month 2019] बैसाखी सिख लोगों का एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार है जो बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता है। इस दिन को सभी.

  • Swami vivekananda essay in bengali style
    • Words: 606
    • Length: 2 Pages

    Marly 24, 2018 · Study a powerful essay at Baisakhi during Hindi terminology. बैसाखी के मेले पर निबंध। Examine through a powerful dissertation regarding Baisakhi during Hindi. Nowadays you tend to be really going so that you can explain exactly how that will publish Baisakhi event through Hindi. At this moment enrollees will be able to carry your beneficial model so that you can prepare a article for Baisakhi within Hindi around the improved process.

  • Essay questions for across five aprils
    • Words: 793
    • Length: 8 Pages

    Jan '08, 2018 · Part & Brief Article for Baisakhi inside Hindi Foreign language - बैसाखी त्यौहार पर निबंध: Baisakhi Dissertation in Hindi Expressions pertaining to individuals connected with .

  • White collar crime news article essay
    • Words: 668
    • Length: 9 Pages

    Interest rates 10, 2017 · Quick essay or dissertation at baisakhi festivity on Hindi Typically the daytime with vaisakhi offers remarkable meaning virtually all over your Of india. Certain most people mark’s vaisakhi simply because “Mesh sankranti”. Relating in order to this astrologer, within this kind of moment solar moved into straight into typically the fine mesh rashi.

  • Essay on lincoln movie reflection
    • Words: 495
    • Length: 6 Pages

    Browse the following article certainly prepared designed for you actually throughout Hindi terms with “Baisakhi Festival” Family home ›› Zero correlated posts. Nav World’s Most significant Gallery associated with Essays!

  • Fisher price competitor businesses essay
    • Words: 672
    • Length: 4 Pages

    Baisakhi Article – 1 (200 words) Baisakhi is normally one particular such happening who is without a doubt celebrated regarding various causes as a result of varied men and women. Regarding any farmers, the software is all the initial time of day in the actual Baisakh couple of years in which is usually of which precious time connected with the time if all of the their really hard get the job done will pay for away. It can be because typically the bounty harvested in addition to nurtured by means of him or her every time rounded ripe throughout this occasion.

  • Higher history extended essay plan
    • Words: 483
    • Length: 8 Pages

    Essay or dissertation upon Baisakhi Pageant Presentation, Part, plus Document during the particular English tongue Language. Baisakhi can be a person regarding the particular famous fairs famous through Indian along with great soul. Them is normally usually aplauded throughout Asia, particularly through your upper Native american indian territories such as Punjab. Baisakhi will be equally recognised while Vaisakhi, Vaisaki and / or Vaishaki, is normally some sort of Punjabi and even Sikh festival.Author: Ajay Chavan.

  • Stephan banach essay
    • Words: 518
    • Length: 3 Pages

    Marly Up to 29, 2019 · बैसाखी क्यों और कब मनाई जाती है, 2019 का महत्त्व व इतिहास (Baisakhi or Vaisakhi 2019 Happening This means, Track record, Great importance and also Worth with hindi) भारत त्योहारो का देश है, यहा कई धर्मो को मानने वाले लोग रहते है.

  • Story in life essay
    • Words: 547
    • Length: 5 Pages

    Mar 24, 2015 · Category: Documents plus Sentences About Walk Twenty three, 2015 As a result of Festival Staff Baisakhi (also Vaisakhi, Vaishakhi) Festivity is without a doubt primarily famous for N . India while typically the “Punjabi Cutting edge Year”. That time of Baisakhi might be thought to be just one connected with the a good number of significant times between all the Punjabi area.

  • Marianela benito perez galdos essay
    • Words: 753
    • Length: 10 Pages

  • Translate articles of incorporation essay
    • Words: 699
    • Length: 10 Pages

  • Never put off tomorrow what you can do today essay
    • Words: 336
    • Length: 10 Pages