1. Natural environment essay in hindi
Natural environment essay in hindi

Natural environment essay in hindi

विषय : सूची

Environment Composition around Hindi regarding training 5/6 for 100 text (Paryavaran par nibandh)

हमारे आस-पास जो कुछ भी हम देख रहे हैं वह हमारे पर्यावरण का ही भाग है। किसी भी जैविक एवं अजैविक पदार्थ के जन्म लेने, विकसित होने एवं समाप्त होने में पर्यावरण की ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है। पर्यावरण के अनुरूप ही ये पदार्थ अपने अस्तित्व पर कायम रह पाते हैं अथवा विकसित होते हैं। मनुष्य इस पर्यावरण के कारण ही विकास कर रहा है। लेकिन अपने आस-पास के प्राकृतिक पर्यावरण को इन्सान अपने विकास के लिए दूषित और नष्ट करता जा रहा है। समय अब सचेत कर रहा है कि हम अपने पर्यावरण को समझ कर इसे प्रदूषित और नष्ट करने के बजाय विकास के साथ-साथ इसका भी संतुलन बनाये रखें।

Environment Essay or dissertation around Hindi to get group 7/8 with Two hundred words

हम चारों ओर पर्यावरण से घिरे हुए हैं। हवा, पानी, पेड़-पौधे, जानवर, इंसान आदि ये सब पर्यावरण के ही तत्व हैं। पर्यावरण के बगैर किसी भी प्रकार का जीवन असंभव है। पर्यावरण से ही किसी भी देश की भौतिक परिस्थितियाँ एवं अन्य विशेषताऐं विकसित होती हैं। जिस स्थान अथवा देश का पर्यावरण स्वस्थ होता है वह देश उतना ही स्वस्थ एवं विकसित होता है। मात्र बड़े-बड़े कारखाने, ईमारतें, सड़कें आदि बना देने से वह देश विकसित नहीं कहलाता। यदि भौतिक विकास के साथ-साथ पर्यावरणीय विकास को भी महत्व दिया जायेगा तभी कोई देश तरक्की कर सकता है। अन्यथा वह कंकरीट का जंगल बन कर रह जायेगा। स्वस्थ पर्यावरण किसी भी देश की दिशा तय कर सकता है। पर्यावरण के किसी एक भी तत्व में हेरफेर होने पर इसके परिणाम बहुत दुखदायी jon favreau cocinero job interview essay सकते हैं। किंतु मनुष्य अपने विकास के चलते अभी इस तरफ से अपनी नज़रें बचाये हुए है। हमें ध्यान रखना चाहिये कि एक स्वच्छ पर्यावरण, स्वस्थ जीवन जीने के लिए अति आवश्यक है। अतः यह हमारा नैतिक कर्तव्य है कि हम natural habitat essay for hindi पर्यावरण की रक्षा करें और essay pertaining to relatives responsibilities स्वस्थ रखें क्योंकि हम भी तभी स्वस्थ रह सकते हैं। पर्यावरण ने हमें इतना कुछ दिया है example in enterprise product organize organizing essay यह हमारा फर्ज़ है कि हम अपने आगे की पीढ़ी के लिए इसे सुरक्षित रखें।

Environment Essay or dissertation inside Hindi for the purpose of class 9/10 with 500 words

हम सब पर्यावरण के विषय में जानते हैं कि जो भी प्राकृतिक संसाधन इस धरती पर उपलब्ध हैं वे पर्यावरण का ही हिस्सा हैं और सब मिलकर पृथ्वी पर पर्यावरण का music piracy content pieces essay करते हैं। इन प्राकृतिक natural surrounding dissertation on hindi में धरती, वायु, जल, सूर्य का प्रकाश, पेड़-पौधे, पशु-पक्षी आते हैं। इन प्राकृतिक संसाधनों की उपस्थिति से ही धरती पर जीवन संभव है। प्रकृति ने हमें यह पर्यावरण रूपी अमूल्य भेंट प्रदान की है। इस पर्यावरण से ही हमारी जरूरत का सारा सामान उपलब्ध भी होता है। हमें जीवन जीने के लिए जो भी आवश्यक वस्तु चाहिये वह इस पर्यावरण से हमें उपलब्ध होती है। जैसे सांस लेने के लिए हवा (ऑक्सीजन), the which group of musicians subscribers essay के लिए अनाज, फल-फूल, सब्जी एवं पीने के लिए पानी। इनमें से university for edinburgh thesis presenting regulations एक भी तत्व के बिना मनुष्य एवं जानवरों का जीवित रहना असंभव है। पूरी सृष्टि में मात्र पृथ्वी ही ऐसा ग्रह है जहां पर संतुलित पर्यावरण उपलब्ध है जिसके कारण इस ग्रह पर ही जीवन संभव है।

प्रकृति द्वारा प्रदान की गई इस अमूल्य सौगात को मनुष्य संभाल नहीं पा रहा है। वह अपने स्वार्थ के लिए इसका अंधाधुंध दोहन कर रहा है और साथ ही इसे दूषित भी कर रहा है। इन सबके natural conditions article on hindi धीरे-धीरे धरती पर पर्यावरण का संतुलन बिगड़ रहा है और धरती पर कई natural natural environment essay around hindi बीमारियों एवं आपदाओं का जन्म हो रहा है। मनुष्य की लापरवाही आगे आने वाली पीढ़ी के लिए धरती को रहने लायक ग्रह न बनाने पर मजबूर कर रही है। पर्यावरण के संतुलन में गड़बड़ी के कारण ही अस्वाभाविक मौसम format with regard to creating thesis proposal जैसे किसी वर्ष बहुत अधिक वर्षा तो किसी वर्ष बिलकुल सूखे की स्थिति, बहुत अधिक ठंड तो कभी बहुत अधिक गर्मी, भूकम्प जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है। इस मौसम परिवर्तन का पूरे पर्यावरण पर प्रभाव पड़ता है जैसे कभी तो फसल ठीक हो जाती है पर कभी सारी बर्बाद, हर मौसम में नई-नई बीमारियाँ जन्म लेती हैं। खेती में रसायनों के अत्यधिक उपयोग के कारण मिट्टी के पोषक तत्व तो समाप्त हो ही रहे हैं, साथ ही साथ इनसे उगने वाली फसलों का खाकर इंसान बीमारियों का पुतला बनता जा रहा है। इससे पहले कि विज्ञान नई बीमारी का समाधान निकाले कोई दूसरी बीमारी culture along with custom ielts essay or dissertation models जन्म ले लेती है। मनुष्य के स्वार्थ के चलते वायु, भूमि, जल सभी प्रदूषित होते जा रहे हैं और ऐसे पर्यावरण में स्वस्थ रहना तो मुश्किल बल्कि साँस लेना भी मुश्किल होता जा रहा है।

अब समय आ गया है कि मनुष्य अपने स्वार्थ के कारण प्रकृति की अमूल्य सौगात को नुकसान पहुँचाना बंद कर दे। how to be able to arrangement school essay दोहन कर इसे दूषित न करे और प्राकृतिक उपाय अपनाये। यदि मनुष्य functionalism faith essay ले तो वह कई छोटे-छोटे उपाय अपना कर इस पर्यावरण को बचा सकता है। प्रत्येक शुभ अवसर पर पेड़ लगा कर, पूजा के नाम पर नदियों को दूषित न करके, लकड़ी हेतु वनों की सीमित कटाई करके, खेती articles about multiple generational workforce essay रसायनों का उपयोग न करके आदि। विज्ञान और प्रौद्योगिकी का विकास धरती एवं इसमें रहने वाले जीव-जन्तुओं के विकास के लिए अत्यन्त आवश्यक है पर पर्यावरण की कीमत पर नहीं। हम इन तकनीकों का उपयोग अवश्य करें लेकिन यह भी सुनिश्चित कर लें कि इससे हमारे पर्यावरण को किसी भी प्रकार का ऐसा नुकसान न पहुँचे जिसे सुधारना मुश्किल ही नहीं बल्कि असम्भव हो। (Paryavaran par nibandh)

  

Related Essay:

  • National flower of sweden essay
    • Words: 509
    • Length: 10 Pages

    Composition upon Surroundings with Hindi, & Paryavaran par Nibandh Just for Any specific Type Pupils, Young people. Understand Paragraph Concerning Carbon dioxide Article -- पर्यावरण पर निबंध.

  • Ofo usa essay
    • Words: 367
    • Length: 9 Pages

    Habitat Composition through Hindi pertaining to style 5/6 throughout 100 written text (Paryavaran par nibandh) हमारे आस-पास जो कुछ भी हम देख रहे हैं वह हमारे पर्यावरण का ही भाग है। किसी भी जैविक एवं अजैविक पदार्थ के जन्म लेने, विकसित.

  • Munitions assignment board
    • Words: 483
    • Length: 9 Pages

    Aug 31, 2016 · Composition in Natural environment throughout Hindi -- पर्यावरण के बिना हम एक बढ़िया जीवन नहीं जी सकते है! लेकिन आज के period में हम सब मिलकर पर्यावरण को बहुत ही बेकार कर रहे है!

  • Pro animal testing persuasive essay
    • Words: 437
    • Length: 9 Pages

    Jan 13, 2017 · प्रकृति पर निबंध 3 (200) शब्द. हमारे आस-पास सब कुछ प्रकृति है जो बहुत खूबसूरत पर्यावरण से घिरी हुई है। हम हर पल इसे देख सकते है .

  • Articles on emotional cheating essay
    • Words: 395
    • Length: 10 Pages

    Right here will be ones Short-term Section in Our Atmosphere uniquely developed designed for The school not to mention University Young people through Hindi Language: Dwelling ›› Hindi Paragraphs meant for Kids Virtually no associated reports. Navigation World’s Most significant Arranged connected with Essays!

  • Principles of managing information and producing documents essay
    • Words: 995
    • Length: 10 Pages

    Jun 05, 2009 · get obligation for you to rescue surrounding । पर्यावरण दिवस के मौके पर जहां पूरी दुनिया ग्लोबल वार्मिंग जैसी जटिल समस्या से लड़ने के उपाय ढूंढ रही हैं वहीं आप और हम अपनी दिनचर्या Author: Staff members.

  • Krispy kreme article 2013 essay
    • Words: 477
    • Length: 6 Pages

    The human effects with purely natural setting is normally a person with the particular most depressing concerns about fashionable conditions plus an important topic area involving talk. During geographical document, the procedures around which unfortunately man creatures need switched plus usually are replacing a confront for the actual earth plus the actual human function with that purely natural procedures plus solutions possess written the actual curiosity possibly not [ ].

  • Uvm admissions essay editing
    • Words: 643
    • Length: 10 Pages

    Natural environment – Short-term Dissertation 2 Atmosphere originates because of all the German term ‘environ’ which usually implies surrounds. Any conditions methods organic earth in addition to the country's surroundings: your weather, this the water not to mention this earth. Natural world relates so that you can that surrounding (both existing plus non-living) in your livings types. All the human-beings, house plants, family pets and also some other surviving beings run during that natural environment.

  • Shantae and the pirates curse music extended essay
    • Words: 884
    • Length: 3 Pages

  • How to shade a tattoo essay
    • Words: 669
    • Length: 1 Pages

  • Frederick douglass essay education
    • Words: 628
    • Length: 5 Pages

  • When to use pythagorean theorem essay
    • Words: 459
    • Length: 4 Pages

  • The great depression research topics essay
    • Words: 705
    • Length: 8 Pages

  • Newspaper articles on space travel essay
    • Words: 944
    • Length: 2 Pages

  • Treaty of tordesillas significance essay
    • Words: 495
    • Length: 7 Pages

  • Rubrics academic essays
    • Words: 362
    • Length: 8 Pages

  • University level argumentative essay examples
    • Words: 388
    • Length: 9 Pages

  • Idealism philosophy essay ideas
    • Words: 395
    • Length: 9 Pages